अब वो रहा नहीं

जो मै था...... अब वो रहा नही.... जो अब हूँ... वो रहना नही। याद तो करता हूँ रोज उसे.. पर सुनो... किसी से कहना नही। हा गलतियां की है मैंने... पर वो शख़्स... मै था नही। किसी और का कैसे बनू... अब खुद का मै रहा नही। हा दर्द होता है रोज सीने मे... पर मैंने किसी से कुछ कहा नही। माफी नही मांगुगा ...क्योंकि अब उस लायक मै रहा नही.. आँखे नम करता हूँ  हर रात उसकी यादो मे... और वो कहते है... तुमने हमे कभी चाहा नही।। 


~Sujal Jaiswal

©2019 by Not Yet.